MY INNER KARAMA
MY INNER KARAMA
Bhajan No. 29 | Date: 06-Jun-19981998-06-06अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।/bhajan/?title=agara-tuma-hamase-rutha-gae-to-tuje-manana-kaise-vo-sikha-deअगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।

अगर तुम हमसे नाराज़ हो गए, तो तुझे कैसे हंसाया जाए, वो सिखा दे।

जी नहीं सकते हम तेरे मीठे बोलों के बिना, इन होठों को चुप मत करना।

तेरी एक प्यार भरी नज़र में दीवाने हो जाते हैं हम, ये दीवानगी का अंत मत करना।

भूल हमसे न हो जाए, कि दुख नहीं देना चाहते हैं हम, इस प्रेम के राही को भुला मत देना।

तुझे चोट पहुँचा कर नहीं जी सकते हैं हम, तेरे ज़ख्मों में मरहम लगाना हमको सिखा दे।

दोस्ती की है तुमसे हमेशा के लिए, इसे नहीं तोड़ना चाहते हैं हम, ये दोस्ती को निभाना सिखा दे।

तेरे इस प्यार भरी राह में चल पड़े हैं हम, इस राह को कभी छोडें नहीं हम, इसपे चलते रहना सिखा दे।

जानना चाहते हैं हम प्रभु तुझे हरदम, तुझे जानने का मार्ग हमको सिखा दे।

कच्चे हैं हम इस दुनिया में अब तक, इस दुनिया में जीना हमको सिखा दे।


अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।
Home » Bhajans » अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।
  1. Home
  2. Bhajans
  3. अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।

अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।

View Original
Increase Font Decrease Font


अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।

अगर तुम हमसे नाराज़ हो गए, तो तुझे कैसे हंसाया जाए, वो सिखा दे।

जी नहीं सकते हम तेरे मीठे बोलों के बिना, इन होठों को चुप मत करना।

तेरी एक प्यार भरी नज़र में दीवाने हो जाते हैं हम, ये दीवानगी का अंत मत करना।

भूल हमसे न हो जाए, कि दुख नहीं देना चाहते हैं हम, इस प्रेम के राही को भुला मत देना।

तुझे चोट पहुँचा कर नहीं जी सकते हैं हम, तेरे ज़ख्मों में मरहम लगाना हमको सिखा दे।

दोस्ती की है तुमसे हमेशा के लिए, इसे नहीं तोड़ना चाहते हैं हम, ये दोस्ती को निभाना सिखा दे।

तेरे इस प्यार भरी राह में चल पड़े हैं हम, इस राह को कभी छोडें नहीं हम, इसपे चलते रहना सिखा दे।

जानना चाहते हैं हम प्रभु तुझे हरदम, तुझे जानने का मार्ग हमको सिखा दे।

कच्चे हैं हम इस दुनिया में अब तक, इस दुनिया में जीना हमको सिखा दे।



- डॉ. ईरा शाह
Lyrics in English Increase Font Decrease Font


agara tuma hamasē ruṭha gaē, tō tujhē manānā kaisē, vō sikhā dē।

agara tuma hamasē nārāज़ hō gaē, tō tujhē kaisē haṁsāyā jāē, vō sikhā dē।

jī nahīṁ sakatē hama tērē mīṭhē bōlōṁ kē binā, ina hōṭhōṁ kō cupa mata karanā।

tērī ēka pyāra bharī naज़ra mēṁ dīvānē hō jātē haiṁ hama, yē dīvānagī kā aṁta mata karanā।

bhūla hamasē na hō jāē, ki dukha nahīṁ dēnā cāhatē haiṁ hama, isa prēma kē rāhī kō bhulā mata dēnā।

tujhē cōṭa pahum̐cā kara nahīṁ jī sakatē haiṁ hama, tērē ज़khmōṁ mēṁ marahama lagānā hamakō sikhā dē।

dōstī kī hai tumasē hamēśā kē liē, isē nahīṁ tōड़nā cāhatē haiṁ hama, yē dōstī kō nibhānā sikhā dē।

tērē isa pyāra bharī rāha mēṁ cala paड़ē haiṁ hama, isa rāha kō kabhī chōḍēṁ nahīṁ hama, isapē calatē rahanā sikhā dē।

jānanā cāhatē haiṁ hama prabhu tujhē haradama, tujhē jānanē kā mārga hamakō sikhā dē।

kaccē haiṁ hama isa duniyā mēṁ aba taka, isa duniyā mēṁ jīnā hamakō sikhā dē।
Previous
Previous Bhajan
चाहते हैं हम तुझे कितना, वो हम नहीं जानते।
Next

Next Bhajan
जिस हाथ ने इतना कुछ दिया, वो हाथ अब पीछे क्यों हट गया?
 
Previous
Previous Hindi Bhajan
चाहते हैं हम तुझे कितना, वो हम नहीं जानते।
Next

Next Hindi Bhajan
जिस हाथ ने इतना कुछ दिया, वो हाथ अब पीछे क्यों हट गया?
अगर तुम हमसे रुठ गए, तो तुझे मनाना कैसे, वो सिखा दे।
First...1718...Last